Cart(0)
VedicShoppe.com
Welcome to Sri Kashi Vedic Sansthan

आज के युग में हमारे जीवन में कई बार ऐसा वक़्त आता है जब हमें किसी अलौकिक शक्ति का एहसास होता है या हमें ऐसी किसी अलौकिक शक्ति की आवश्कता पड़ती है जो हमारे जीवन में सुख -समृद्धि ,धन- वैभव ,विद्या,स्वस्थ  शरीर व मानसिक शांति दे सके .

यह अलौकिक शक्ति हम आज भी प्राप्त कर सकते है रुद्राक्ष,रत्न ,यन्त्र,कवच,पूजन,हवन इत्यादि द्वारा .

भारत के ऋषि मुनियों ने अनेको वर्ष तपस्या कर यह ज्ञान मानव कल्याण हेतु अर्जित किया था जिसका वर्णन हमें वेदों तथा पुराणों में मिलता है.

श्री काशी वैदिक संस्थान में उसी प्राचीन वैदिक वर्णन के अनुसार रुद्राक्ष ,रत्न ,यन्त्र ,कवच,इत्यादि वस्तुओ को अभिमंत्रित तथा सिद्ध किया जाता है.
तथा  हमारे ग्राहकों को इनका वास्तविक लाभ मिल सके यही हमारा उद्देश है 

अगर आप हमारे यहाँ से कोई भी धार्मिक वस्तु लेते है तो निश्चित रहे वह पूरी तरह से असली,शुद्ध ,पवित्र, व भगवान् शिव के आशीर्वाद के साथ ही आप तक पहुंचेगी .

Featured Products
More...
Consult from Our Astrologer
Name  
DOB  
Birth Time
select
select
select
select
Country
State
City
Gender
 
Email  
Mobile  
SEND DETAIL»
Testimonial
Coming Soon...
Payment Method
  • D.D
    • Please send D.D in favour of
      "SRI KASHI VEDIC SANSTHAN"
      Payable at VARANASI
  • M.O
    • "SRI KASHI VEDIC SANSTHAN"
      Opp: Annapurna mills,
      Kashi Vidhyapeeth Road,
      Varanasi- 221001
  • Cheque
    • In favour of "SRI KASHI VEDIC SANSTHAN"
      Payable at Varanasi
  • Cash on Delivery
    • Pay cash at your door at the time of delivery.

What's New

Small Prabhu Charan Paduka (Choti Khadau)
Small Prabhu Charan Paduka (Choti Khadau)

This is small wooden Prabhu Charan Paduka (Choti Khadau) it is kept in home temples as well as near worship places. It is believed that distributing this Paduka in 11 temples brings prosperity and happiness.Made of fine wood with brass decoration on it.

Rs. -250 USD($) -5
MUHURT CHINTAMANI
MUHURT CHINTAMANI

Book of Astrology "Muhurt Chintamani" is used to find the suitable "Muhurat" as per vedic science written by well-known Astrologer Dr. Ram Chandra Pandey.

Rs. -500 USD($) -20
Siddha Accurate Copper Sri Yantra Pendent
Siddha Accurate Copper Sri Yantra Pendent

Accurate Siddha Sri Yantra on Cooper in form of pendent for wealth and prosperity.

Rs. -501 USD($) -20
Kashi Khand (4 Volumes) Sampornanand Sanskrit Vishvvidyalaya
Kashi Khand (4 Volumes) Sampornanand Sanskrit Vishvvidyalaya

Complete Kashi Khand Book is about the greatness of Kashi (Varanasi) Mainly for details of all the temples in Kashi and their importance and history.This book is in four volumes and Publiser is Worlds largest Sanskrit university Sampornanad Sanskrit Vishvavidyalaya, Varanasi This book is very helpful for knowing about verious temples of Kashi.

Rs. -2040 USD($) -30
Trishul Gumbad for Temple (Brass)
Trishul Gumbad for Temple (Brass)

Brass Gumbad with Trishul For Temple Top

Rs. -3000 USD($) -100
Pure Javitri
Pure Javitri

Pure Javitri Herbs used in many religious rituals.

Rs. -300 USD($) -20
Dev Guru Brihaspati Pooja & Dosh Nivaran at Kashi
Dev Guru Brihaspati Pooja & Dosh Nivaran at Kashi

देव नगरी काशी जहां विराजते है 33 हजार करोड़ देवी देवता और इस सब के साथ देवताओं के गुरु ब्रृहस्पति भगवान। मोक्ष नगरी काशी में इस गुरु ब्रृहस्पति मंदिर की पौराणिक मान्यता है। अनादि काल से इस जीवंत मंदिर में स्वतः देव गुरु विराजते हैं। अति प्राचीन इस मंदिर को लेकर मान्यता है कि जब बाबा भोले ने काशी को अपनी राजधानी बनाईं तो देव लोक से देवता भी मोक्ष नगरी काशी में आकर वास करने के लिए लालायित हो उठे। सभी ने बाबा भोले से विराजमान होने की अनुमति मांग आये और यही के होकर रह गए। लेकिन जब देवताओं के गुरु बृहस्पति ने काशी पहुँच बाबा विश्वनाथ से काशी वास की इच्छा जाहिर की तो शिव ने उन्हें गुरु सम्मान देते अपने परिसर के करीब ऊँचाई वाले टीले पर उन्हें सर्वोच्च स्थान इस लिए दिया कि उनके दर्शन प्रतिदिन खुद विश्वनाथ और यहां आये देवता, ग्रह, नक्षत्र उनका दर्शन कर सके। इस मंदिर की धार्मिक मान्यता है कि देव गुरू बृहस्पति नौग्रहों में सर्वश्रेष्ठ गृह हैं और ये धन, मंगल, बुद्धि के देवता है। इसी कारण इनके श्रंगार से लेकर भोग तक सब कुछ पीले रंग का ही इस्तेमाल किया जाता है। हल्दी और पीला चंदन लगाते हैं भक्त इसी कारण यहां आने वाले श्रद्धालु विश्वनाथ के गुरू को पीला वस्त्र, पीला प्रसाद चढ़ाते हैं। भक्त यहां देव गुरू की पूजा करते हैं और मंगल कार्य सिद्ध होने के लिए हाथों में पीली हल्दी पीला चन्दन लगाते हैं। यह स्वयम्भू सलिकग्राम मूर्ति है जो देवों के आराध्य देव ब्रृहस्पति देव हैं। मान्यता है कि यहां ब्रृहस्पति भगवान साक्षात् विराजते हैं।

Rs. -5100 USD($) -101
Sumdra Ki Feni
Sumdra Ki Feni

Sumdra Ki Feni used for many religious ritual.

Rs. -250 USD($) -20
Yoga /Pooja Mat / Aasan made of Wool and Kusha
Yoga /Pooja Mat / Aasan made of Wool and Kusha

Wool Kusha mat/Aasan for pooja /Yoga

Rs. -550 USD($) -20